बेंट ओवर बारबेल रो में हैवी वेट लगाने की एक ट्रिक

बेंट ओवर बारबेल रो में आप कितना वेट लगा पाते हैं ये दो बातों पर डिपेंड करता है आपका बॉडी वेट कितना है और आपमें एग्रेशन कितना है। क्योंकि ताकत भीतर से आती है। बहरहाल आज हम आपको एक छोटी सी ट्रिक बताते हैं, जिसकी मदद से आप इस कसरत में थोड़ा ओर वेट लगा पाएंगे या एक दो रैप और निकाल पाएंगे।

रॉड में वेट लगाने के बाद आमतौर पर हम झुकते हैं, रॉड को पकड़ते हैं और उठते उठते पोजीशन बना लेते हैं। अब आप इसमें एक बदलाव करके देखें। वेट उठाकर बीच में बिना रुके सीधे हो जाएं। इसके बाद झुक कर पोजीशन बनाएं। कहने का मतलब ये है कि उठते हुए पोजीशन बनाने की बजाए पहले पूरी तरह से सीधे हो जाएं और फिर झुकते हुए पोजीशन बनाएं।

वेट उठाते हुए पोजीशन बनाने में ज्यादा मेहनत लगती है, जबकि सीधे खड़े होने के बाद झुक कर पोजीशन बनाने में कहीं खिंचाव नहीं आता बशर्ते आपकी फॉर्म सही हो। जो लोग इस कसरत को सही ढंग से करना जानते हैं उन्हें यकीनन फायदा होगा।
बेंट ओवर बारबेल रो वैसे तो बैक की कसरत है मगर इससे ट्राइसेप्स पर भी बहुत असर पड़ता है। इसकी गिनती पावर बढ़ाने वाली कसरतों में होती है। कोशिश करें कि इस कसरत को हैवी वेट के साथ लगाएं।

एक और ध्यान रखने वाली बात ये है कि इसमें बड़ी रॉड का इस्तेमाल करना चाहिए। बड़ी रॉड की ग्रिप अच्छी होती है और उसमें लगा वेट आपकी बॉडी से वाजिब दूरी पर बना रहता है। जब वेट नीचे की ओर जाता है तो आपकी बैक पर सही खिंचाव पड़ता है। इसके अलावा बड़ी रॉड आपको हमेशा मर्दानगी का अहसास कराती है। आपने तस्वीरें तो देखी ही होंगे। बड़े बॉडी बिल्डर इसमें हमेशा बड़ी रॉड का इस्तेमाल करते हैं। बेंट अोवर बारबेल रो सही ढंग से ऐसे करें।

कितना वेट लगाना चाहिए

सबसे पहले अपना वन रैप टेस्ट करें। वर रैप टेस्ट का मतलब होता है कि किसी कसरत में आप पूरी फॉर्म मेनटेन रखते हुए कितना वेट लगा सकते हैं। मान लें आप बेंट ओवर बारबेल रो में चालीस किलो वेट से एक रैप निकाल लेते हैं तो आपको आमतौर पर इसका अस्सी फीसदी यानी 32 किलो के आसपास वेट लगाकर एक्सरसाइज करनी चाहिए। धीरे धीरे वेट बढ़ाने की कोशश भी जारी रहे।

स्रोत: http://www.bodylab.in/

Training